Tuesday, May 24

विज्ञान

इतिहास में पहली बार वैज्ञानिकों ने उगाया चंद्रमा की मिट्टी में फूल का पौधा
बड़ी खबर, विज्ञान

इतिहास में पहली बार वैज्ञानिकों ने उगाया चंद्रमा की मिट्टी में फूल का पौधा

इतिहास में पहली बार वैज्ञानिकों ने उगाया चंद्रमा की मिट्टी में फूल का पौधा... चंद्रमा पर जीवन है या नहीं इस बात का पता वैज्ञानिकों ने अलग तरीके से लगाया है। वैज्ञानिकों दिखाया है कि चंद्र मिट्टी में सफेद फूलों वाला एक छोटा पौधा विकसित करना संभव है। हालांकि यह प्रयोग अभी पृथ्वी पर किया गया है। इस नई खोज से उम्मीद जगी है, कि शायद भविष्य के मिशनों के दौरान चंद्रमा पर पौधे उगाए जा सकते हैं। वैज्ञानिकों का दावा है कि चंद्रमा पर भोजन उगाया जा सकता है और वह भोजन पृथ्वी के फल और सब्जियों से भी अधिक स्वास्थ्यवर्धक हो सकता है। https://twitter.com/NASAArtemis/status/1524779970823856129 आपको बता दें कि नासा के अपोलो 11, 12 और 17 मिशनों द्वारा चांद की मिट्टी धरती पर लाई गई है। अब इसी मिट्टी में वैज्ञानिकों ने खेती की है। फ्लोरिडा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने यह प्रयोग किया है। फ्लोरिडा विश्व...
Gujarat Earthquake: भूकंप के झटकों से कांपी बाबा सोमनाथ की नगरी, 4 और 3.2 तीव्रता के दो झटकों से दहशत में आए लोग
Whether, विज्ञान

Gujarat Earthquake: भूकंप के झटकों से कांपी बाबा सोमनाथ की नगरी, 4 और 3.2 तीव्रता के दो झटकों से दहशत में आए लोग

Gujarat Earthquake: भूकंप के झटकों से कांपी बाबा सोमनाथ की नगरी, 4 और 3.2 तीव्रता के दो झटकों से दहशत में आए लोग आज सुबह यानि सोमवार को बाबा सोमनाथ की नगरी में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। बताया जा रहा है कि 4 और 3.2 तीव्रता के एक के बाद एक 2 झटके महसूस किए गए थे। हालांकि किसी के हताहत होने की, या जाल-माल के हानि होने की कोई खबर नहीं मिली है। आपको बता दें कि गुजरात के गिर सोमनाथ जिले के वेरावल से 25 किमी दूर स्थित तलाला गांव में आज सुबह 2 भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। बताया जा रहा है कि 4.0 तीव्रता का पहला भूकंप सुबह 6.58 बजे आया, जिसका केंद्र तलाला गांव से 13 किमी उत्तर-पूर्वोत्तर में था। इसके अलावा दूसरा झटका 3.2 तीव्रता वाला, जो कि सुबह 7.04 बजे आया। उसका केंद्र तलाला से नौ किमी उत्तर-उत्तर-पूर्व में था। आपको बता दें कि भूकंप के झटके इतने तीव्रता से आए कि गांव के लोगों को अ...
Surya Grahan 2022: जाने सूर्य ग्रहण से जुड़ी खास बाते,समय और सूतक काल…
देश, धर्म-कर्म, बड़ी खबर, विज्ञान

Surya Grahan 2022: जाने सूर्य ग्रहण से जुड़ी खास बाते,समय और सूतक काल…

Surya Grahan 2022: जाने सूर्य ग्रहण से जुड़ी खास बाते,समय और सूतक काल... साल 2022 का पहला सूर्य ग्रहण कब  सूर्य ग्रहण की तिथि: 30 अप्रैल, शनिवार 2022 समय: रात्रि12:15 से प्रातः  04:07 बजे तक कैसा होगा यह ग्रहण: आंशिक ग्रहण कहां दिखेगा: दक्षिणी/पश्चिमी अमेरिका, पेसिफिक अटलांटिक और अंटार्कटिका में सूतक काल: सूतक मान्य नहीं किस नक्षत्र में लगेगा ग्रहण  पहला सूर्य ग्रहण मेष राशि में लगने जा रहा है। साथ ही यह ग्रहण भरणी नक्षत्र में लगेगा। खगोलशास्त्रियों के मुताबिक 30 अप्रैल 2022 वाला ये ग्रहण आंशिक ग्रहण होगा। वहीं दूसरा सूर्य ग्रहण साल के अंत में 25 अक्टूबर 2022 को लगेगा। कब होता है सूर्य ग्रहण जब सूर्य और चंद्रमा का एक दूसरे से सामना होता है लेकिन चंद्रमा का आकार तुलनात्मक रूप से छोटा होने के कारण सूर्य एक चमकती हुई अंगूठी की तरह नजर आता है, तब पूर्ण सूर्य ग्रहण होता है। पूर्...
जानिए क्यों Tesla कार भारत में क्यों नहीं आ सकती?
जरा-हटके, विज्ञान

जानिए क्यों Tesla कार भारत में क्यों नहीं आ सकती?

नई दिल्ली: एलन मस्क 2019 की शुरुआत में भारत में टेस्ला INC की कारों को बेचना चाहते हैं. तीन साल बाद, अमरीकी इलेक्ट्रिक-वाहन अग्रणी वास्तव में ज्यादा करीब नहीं है. टेस्ला के सीईओ मस्क और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशासन के बीच वर्षों से बातचीत चल रही है. लेकिन एक स्थानीय कारखाने और देश के आयात शुल्क पर 100% तक की असहमति के कारण से गतिरोध पैदा हो गया है. सरकार ने ईवी निर्माता को स्थानीय खरीद में तेजी लाने और विस्तृत विनिर्माण योजनाओं को साझा करने के लिए कहा है; मस्क ने कम टैक्स की मांग की है ताकि टेस्ला एक बजट-सचेत बाजार में आयातित वाहनों को सस्ती कीमत पर बेचकर शुरुआत कर सके. बता दे, एलोन मस्क विश्व में अपना सुपर स्किल और दूर दृष्टि के लिए जाने जाते है. मस्क इस समय दुनिया के सबसे अमीर आदमी है. इसके साथ ही वो दुनिया के लिए स्पेस यात्रा करवाने के लिए योजना और स्पेस शटल बना रहे ह...
कब तक होगा भारत से चंद्रयान –3 लॉन्च?
देश, बड़ी खबर, विज्ञान

कब तक होगा भारत से चंद्रयान –3 लॉन्च?

नई दिल्ली: आपको बता दे की जल्द ही भारत से लॉन्च होने जा रहा है भारत का 3 चंद्र मिशन. चंद्रयान -3, भारत का तीसरा चंद्र मिशन है, और यह अभी प्राप्ति के उन्नत चरणों में है. आपको बता दे की इसे वित्तीय वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही में लॉन्च करने का लक्ष्य किया जा रहा है. इसकी जानकरी संसद को गुरुवार को बताई गई थी. राज्यसभा में एक प्रश्न किया गया जिसके लिखित में केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने उत्तर में कहा,"चंद्रयान -3 प्राप्ति के उन्नत चरण में है। प्रणोदन मॉड्यूल और रोवर मॉड्यूल दोनों में सभी प्रणालियों का एहसास, एकीकृत और परीक्षण किया गया है"। सिंह ने कहा, "लैंडर मॉड्यूल में, अधिकांश प्रणालियों को लागू कर दिया गया है और परीक्षण जारी हैं।" और लॉन्च से पहले ही सारी जरूरी टेस्टिंग भी की जाएगी. आपको बता दे की इसके साथ ही केंद्रीय सरकार ने 2022 में दो मानव रहित मिशनों की भी घोषणा की. बताया ...